कन्नडा लिपि की विशेषताएं, ಕನ್ನಡ ಲಿಪಿಯ ವೈಶಿಷ್ಟ್ಯಗಳು

कन्नडा लिपि की विशेषताएं

कन्नडा दक्षिण भारत में कर्नाटक राज्य की एक भाषा है। कन्नड़ दक्षिण भारत के पड़ोसी राज्यों में भी बोली जाती है।

कन्नडा चरित्र सेट अन्य भारतीय भाषाओं के समान ही है।

उत्पत्ति: कन्नड़ लिपि ब्रह्मी लिपि से ली गई है।

कन्नडा बाएं से दाएं लिखा जाता है, और क्षैतिज रेखाओं में लिखा गया है।

कन्नडा लिंग, संख्या और काल, और अन्य चीजों के लिए विभक्ति हुआ है।

कन्नड़ लिपि शब्दावली है, यानी, लिखित प्रतीक एक अक्षर के अनुरूप है।

एक अक्षर एक उच्चारण की एक इकाई है जिसमें एक स्वर ध्वनि होती है जैसे कि जयाते ಜಯತೆ में 3 अक्षर होते हैं ज ಜ, य ಯ, और ते ತೆ।


--x--

கடைசியாக மாற்றப்பட்டது: திங்கள், 8 அக்டோபர் 2018, 4:24 மாலை